English

 

मुख्य पृष्ठ

 
  लोक शिकायत  
 

सम्पर्क करें

 
 

प्रतिक्रिया

 
 

फोटो गैलरी

 
 

सूचना का अधिकार

 
 

सरकारी नीतियाँ

 

समाचार

 

डाउनलोड करें

  संगठन
 

सूचनाएँ

इस आयुक्तालय का क्षेत्रीय एवं प्रषासनिक क्षेत्राधिकार पंजाब, हिमाचल प्रदेश, जम्मू और कश्मीर और चण्डीगढ़ का केंद्र शासित प्रदेश के पूरे सीमा शुल्क कार्य जिसमें इन राज्यों की अंतर्राष्ट्रीय सीमाओं पर तस्करी-रोधी (सीमा शुल्क निवारक कार्य)  सम्मिलित हैं, पर है। इसका मुख्यालय अमृतसर जैसे पवित्र शहर में है, जिसकी स्थापना सिक्खों के चौथे गुरू गुरू राम दास जी ने 1577 में की थी। अमृतसर अपने नाम के लिए विख्यात है जिसका अर्थ है - अमृत का सरोवर। यहाँ पर सिक्खों का पवित्रतम और विश्व का प्रसिद्ध गुरूद्वारा स्वर्ण मंदिर है। स्वर्ण मंदिर केवल सिक्खों के लिए ही नहीं अपितु हिंदुओं के लिए भी विश्व बंधुत्व शान और एकता का प्रतीक है। इसके अतिरिक्त अमृतसर शहर जलियाँवाला बाग, 16वीं शताब्दी में बने दुर्गायाणा मंदिर के लिए भी प्रसिद्ध है।

दिनांक 07.03.2002 अधिसूचना संख्या 15/2002-सी.शु.(एनटी) से प्रतिस्थापित भारत सरकार की दिनांक 07.07.1997 अधिसूचना संख्या 27/97-सी.शु.(एनटी) के अनुपालन में तत्कालीन सीमा शुल्क एवं केंद्रीय उत्पाद शुल्क चण्डीगढ़ के आयुक्तालय का केंद्रीय उत्पाद शुल्क आयुक्तालय चण्डीगढ़-।, चण्डीगढ़-।। और सीमा शुल्क आयुक्तालय अमृतसर में तीन भागों में विभाजन के पश्चात सीमा शुल्क (निवारक) आयुक्तालय, अमृतसर 16 जुलाई, 1997 को अस्तीत्व में आया और श्री डी. एस. सरा इस आयुक्तालय के प्रथम आयुक्त थे। वर्तमान में कप्तान संजय गहलौत सीमा शुल्क के आयुक्त हैं जिन्होंने 09.09.2015 में पदभार ग्रहण किया।

सीमा शुल्क आयुक्तालय, अमृतसर के तत्कालीन इतिहास पर यदि दृष्टिपात करें तो इसके कार्यक्षेत्र के अंतर्गत भूमि सीमा शुल्क स्टेशन, आईसीपी अटारी, भूमि सीमा शुल्क स्टेशन, अटारी रेल, श्री गुरू राम दास जी अंतर्राष्ट्रीय हवाईपत्तन, भूमि सीमा शुल्क स्टेशन, रेल कारगो कॉमप्लैक्स और सी.एफ.एस छहरट्ट््ा और लुधियाना में स्थित पाँच अन्तर्देशीय कंटेनर डिपुओं/कंटेनर फ्रेट स्टेशनों कंटेनर फ्रेट स्टेशनों के साथ-साथ जलंधर, बठिण्ंडा और दप्पर के सी.एफ.एस पर न केवल अंतर्राष्ट्रीय सामान की आवाजाही पर निगाह रखना और उसकी निकासी करना था, अपितु निवारक कार्यों से संबंधित गतिविधियों को भी समुचित रूप से करना था।

वित्त मंत्रालय, भारत सरकार की दिनांक 16 सितम्बर, 2014 को जारी अधिसूचना संख्या 78/2014 -सीमा शुल्क(एनटी) के अनुपालन में तत्कालीन सीमा शुल्क (निवारक) आयुक्तालय, अमृतसर को दो भागों में विभाजित किया गया है। इस अधिसूचना के तहत सीमा शुल्क आयुक्तालय, लुधियाना और सीमा शुल्क (निवारक) आयुक्तालय, अमृतसर का गठन किया है। इस प्रकार अब इस आयुक्तालय के पास सुदूर जम्मू एवं काशमीर के न्योमा (लेह) से लेकर,  पंजाब, हिमाचल प्रदेश, केन्द्र शासित प्रदेश चण्डीगढ़ में निवारक कार्यों का क्षेत्राधिकार है।

 

नया क्या है ?

 
 
 
 
 
 
 
 

नोटिस बोर्ड

 
 
 
 
 
 
 
 
 

© Copyright Amritsar Cutoms 2005.

 All rights reserved.

webmaster@amritsarcustoms.gov.in